Sale!

Andhvigyan-best philosophy books in hindi

200.00 50.00

जीवन में हम हमेशा रूढ़ियों से उबरने का प्रयास करते हैं पर हम अपनी आदत या कह सकते हैं कि शरीर के अंदर मौजूद वह कोड जिसे हम डीएनए कहते हैं उसके कारण अपनी आदतों में वह मूलभूत परिवर्तन नहीं ला पाते है जो हमें चाहिए इसके लिए हम विज्ञान का सहारा लेते है पर अब वैज्ञानिक सोच रखने वाले ही रूढ़ीवादी हो गए हैं |

Description

जीवन में हम हमेशा रूढ़ियों से उबरने का प्रयास करते हैं पर हम अपनी आदत या कह सकते हैं कि शरीर के अंदर मौजूद वह कोड जिसे हम डीएनए कहते हैं उसके कारण अपनी आदतों में वह मूलभूत परिवर्तन नहीं ला पाते है जो हमें चाहिए इसके लिए हम विज्ञान का सहारा लेते है पर अब वैज्ञानिक सोच रखने वाले ही रूढ़ीवादी हो गए हैं |

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Andhvigyan-best philosophy books in hindi”

Your email address will not be published. Required fields are marked *